कोरोना से लड़ने के लिए लॉकडाउन क्यों जरूरी है

fadd517a 4409 43b7 82c5 d2a75cc1334d 1
लॉकडॉउन के दौरान

कोरोना से लड़ने के लिए लॉकडाउन क्यों जरूरी है, इसका उत्तर जानने से पहले यह जानना जरूरी है कि लॉकडाउन होता क्या है? इसमें हम क्या कर सकते हैं, क्या नहीं कर सकते आदि।

जैसा कि हम सब जानते हैं लॉकडाउन शब्द को भारत में ज्यादातर लोगो ने पहली बार सुना हैं। कुछ लोग अपने हिसाब से लॉकडाउन की अलग-अलग व्याख्या कर रहे हैं। इसलिए के बारे में जानना जरूरी है।

अगर हमें लॉकडाउन के बारे में सही जानकारी होगी तो हम लॉकडाउन का सही उपयोग कर सकते हैं। सही जानकारी होने पर लॉकडाउन से हमें कोरोना वायरस से निपटने में सहायता मिलेगी।

जब कोरोना संक्रमित व्यक्ति से किसी दूसरे व्यक्ति को Corona संक्रमण होता है तो उसे Corona की कम्युनिटी ट्रांसमिशन stage कहते हैं। इसे ही कोरोना वायरस की third stage भी कहा जाता है। Community Transmission होने के कारण इस stage को सबसे खतरनाक माना गया है।

365233d0 f251 42d8 aa92 bd2e66522162
कोरोना से लड़ने के लिए लॉकडाउन क्यों जरूरी है

कोरोना वायरस के कम्यूनिटी ट्रांसमिशन को रोकने के लिए भारत में भी कर दिया गया है। सरकार ने लोगों को इस खतरनाक वायरस के संपर्क में आने से बचाने के लिए लॉकडाउन किया है।

भारत में पहली बार लॉकडाउन किया गया है, दुनिया में सबसे पहला लॉकडाउन अमेरिका ने 9/11 आतंकी हमले के बाद आतंकियों को खोजने के लिए 3 दिन के लिए किया था।

इसके कुछ नियम होते हैं, उन नियम को फॉलो करना होता है। नियमों का उल्लंघन करने पर सरकार कार्यवाही भी कर सकती है।

लाॅकडाउन हमारे जीवन काे सुरक्षित करने के लिए होता है। इस दौरान आप घर से बाहर जाएंगे ताे आप पर खतरा मंडराता रहेगा।

लॉकडाउन लागू होने पर कुछ आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अधिकतर सेवाएं बंद हो जाती है। मेडिकल इमरजेंसी की जरूरत पड़ने पर एंबुलेंस की सेवाएं ली जा सकती हैं।

किसी भी प्रकार के वाहन से घूमने फिरने की अनुमति नहीं होती है।

हमारे देश में सबसे पहले महाराष्ट्र और राजस्‍थान में लॉकडाउन किया गया, फिर पंजाब और उत्‍तराखंड में लॉकडाउन लगाया गया।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सर्वप्रथम सभी से 1 दिन के लिए स्वैच्छिक lockdown, अपने घर रहने की अपील की थी। उसके बाद 21 दिन के लिए लॉक डाउन की घोषणा की गई जिसे 14 अप्रैल को 3 मई तक बढ़ा दिया गया।

लॉकडाउन के बारे में सही जानकारी नहीं होने से कुछ लोग घबरा रहे हैं, कुछ लोग कर्फ्यू को ही लॉकडाउन समझ रहे हैं जबकि लॉकडाउन और कर्फ्यू अलग अलग है। लॉकडाउन से घबराने की जरूरत नहीं है, लेकिन lockdown सफल ना होने पर कर्फ्यू लगाया जा सकता है।

लॉकडाउन एक ऐसी व्यवस्था है जो किसी आपदा या किसी महामारी में तब लागू की जाती है तब एक दूसरे के संपर्क में आने से उस बीमारी के बढ़ने की या फैलने की संभावना हो। Lockdown में कुछ जरूरी सेवाओं जैसे दवा, खाने पीने की चीजें, बैंक से पैसे निकालना आदि को छोड़कर अधिकतर घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती।

इसे आप इस प्रकार भी समझ सकते हैं की अनावश्यक कार्यों के लिए आप घर से बाहर नहीं निकल सकते हो।

लॉकडाउन मैं किसी भी तरह की परेशानी होने पर आप हेल्पलाइन पर संपर्क कर अधिकारियों को सूचित कर सकते हैं। लॉकडाउन को अधिकतर लोग एक सजा की तरह देख रहे हैं जबकि लॉकेडाउन सजा नहीं हमारी सुरक्षा के लिए किया जाता है जैसे कि हम सभी जानते हैं दूसरे देशों की तुलना में हमारा देश ज्यादा सामाजिक है। हम एक दूसरे से मिलना मिलाना ज्यादा पसंद है। मौका मिलते ही हम एक दूसरे से मिलने पहुंच जाते हैं।

3368a43a dadd 4851 96e5 58475b6bb720

इसलिए अगर लॉकडाउन नहीं होगा तो लोग एहतियात बरतनी कम कर देंगे। एक दूसरे से मिलेगे जिससे संक्रमण होने का खतरा बना रहेगा। शारीरिक दूरी बनी रहे यह बहुत जरूरी है इस संक्रमण से रोकथाम के लिए।

इसलिए शारीरिक दूरी को बनाए रखने के लिए लॉकडाउन होना जरूरी है और इसका सख्ती से पालन भी जरूरी है।

हमने पहले भी देखा है कि अधिकतर cases में लॉक डाउन का उल्लंघन होने की वजह से कोरोना वायरस को फैलने में मदद मिली है।

उसमें दिल्ली का केस भी है और बिहार का भी, अधिकतर ऐसा ही हुआ है।

Experts और Doctors का भी यही मानना है कि जब तक कोरोना वायरस को पूरी तरह कंट्रोल में नहीं कर लिया जाता, तब तक लॉकडाउन का सख्ती से पालन किया जाए जिन जगहों पर वायरस से infected लोग मिले हैं, उस जगह को सील कर वहां पर रहने वाले सभी लोगों की जांच की जाए। वहां पर बाहर से कोई ना आ सके ना जा सके।

Written By Hariom Poswal

de857514 9b41 4887 93ea 7b0985a4e9aa 1

2 thoughts on “कोरोना से लड़ने के लिए लॉकडाउन क्यों जरूरी है

  1. Lockdown jaruri hai yah baat To samajh mein Aayi lekin asa kab tak chalta rahega sir
    Kuchh log to rules maan rahe hain kuchh Nahi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *